दिव्यांग उपकरण शिविर में अक्षमता तय करने को डीसी व चिकित्सक मे तकरार। भदैंया बीआरसी पर लगा अक्षम बच्चों का चिन्हांकन शिविर ।

दिव्यांग उपकरण शिविर में अक्षमता तय करने को डीसी व चिकित्सक मे तकरार।
भदैंया बीआरसी पर लगा अक्षम बच्चों का चिन्हांकन शिविर ।
शैलेन्द्र त्रिपाठी भदैंया सुलतानपुर।
भदैंया बीआरसी पर स्कूलों में पढने वाले छात्र छात्राओं को अक्षमता के आधार पर चिन्हांकन कर आवश्यक दिव्यांग उपकरण के लिऐ लगे शिविर में अक्षमता प्रमाणित करने के फार्म पर हस्ताक्षर को लेकर चिकित्सक व कंपनी के जिम्मेदार तथा जिला प्रभारी में तकरार हो गयी । घंटो बाद भी फार्म पर सबमिट करने को लेकर एक राय नही बन सकी जिसे बाद मे खानापूरी कर पूरा किया गया।
समेकित शिक्षा विभाग के तहत शनिवार को विकास खंड संसाधन केन्द्र भदैंया पर शिविर लगाकर परिषदीय स्कूलों के बच्चों को दिव्यांगता के आधार पर चयन कर चिन्हांकन शिविर लगाया गया । कानपुर की एलिमको कंपनी और शासन के निर्देश पर लगे शिविर मे मानशिक, शारीरिक, नेत्र व अन्य अंगो से अक्षम या कमजोर बच्चों का चयन कर उनका कागजात जमा कर उनको जांच करने के पश्चात आवश्यक उपकरण दिया जाना है। इसके लिऐ स्वास्थ विभाग से चिकित्सक तथा एलिमको कंपनी द्वारा इंजीनियर व जांच मशीने उपलव्ध करा जांच की व्यवस्था है। दोपहर बाद करीब दो बजे अक्षमता चिन्हित फार्म पर सीएचसी के चिकित्सक के हस्ताक्षर होने शुरू हुए तो मौके पर मौजूद चिकित्सक डा योगेन्द्र यादव और डा राकेश सिब्बल दस्तखत करने से मना कर दिऐ । उन्होने कहा कि इसके लिऐ विशेषज्ञ सर्जन चिकित्सक द्वारा जांच कर प्रमाणित करने का नियम है। इसको लेकर दो घंटे तक समेकित शिक्षा के जिला प्रभारी डा शरद सिह और चिकित्सकों तथा एलिमको कंपनी के जिम्मेदारो मे तकरार होती रही। तथा मामले को उच्चाधिकारियो को अवगत करा इसके निराकरण मे लोग लगे रहे।
150 दिव्यांग छात्रों को उपकरण मिलने का है लक्ष्य।
भदैंया मे अक्षमता के आधार पर छात्रो को मिलने वाले उपकरण को लगे शिविर मे 150 लोगो को उपकरण के लिऐ चयन करने का लक्ष्य मिला है। कई विकास खंडो से सुबह से पहुचे छात्र व उनके परिजन कागजात जमा कराने तथा नामांकन को लेकर जूझते रहे । बीआरसी के अंदर से लेकर बाहर तक गहमा गहमी रही बच्चो को लेकर महिलाऐ कर्मियों से भिडती रही । दोपहर बाद 50% तक लोगो के नामांकन हो पाऐ तथा लोग नामांकन के लिऐ परेशान रहे।
डेढ सौ अक्षम छात्रों का चिन्हांकन
डेढ सौ के सापेक्ष शारीरिक,मानसिक व अन्य मामले मे अक्षम छात्रों का चिन्हांकन व नामांकन किया जा रहा है। एलिमको कंपनी के लोग व मशीन से जांच हो रही है। चिकित्सक प्रमाणपत्र पर हस्ताक्षर को लेकर मनाही कर रहे है इसके लिऐ परियोजना निदेशक आर एम सिह को जानकारी दी गयी है।
डा शरद सिंह जिला प्रभारी समेकित शिक्षा सुलतानपुर।
https://accounts.google.com/o/oauth2/postmessageRelay?parent=https%3A%2F%2Fmail.google.com&jsh=m%3B%2F_%2Fscs%2Fabc-static%2F_%2Fjs%2Fk%3Dgapi.gapi.en.L7mys-cL6BM.O%2Fd%3D1%2Fct%3Dzgms%2Frs%3DAHpOoo8QoBZWYtEZfsgOGqh_X1WKvJV7Wg%2Fm%3D__features__#rpctoken=920837373&forcesecure=1